government is giving loans up to 10 lakhs

अब नहीं होगा बेरोजगारी का सामना, जानिए कैसे सरकार दे रही 10 लाख तक का लोन

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना अपने आठवें साल की समाप्ति पर पहुंच गई है। इस योजना के तहत करोड़ों युवा उद्यमियों को लोन दिया गया है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत तीन श्रेणियों में लोन प्रदान किया जाता है। इस योजना से बहुत सारी महिलाएं भी लाभान्वित हुई हैं।

देश के युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं। उनकी मदद के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) भी शुरू की गई है। इस योजना के तहत, ग्रामीण इलाकों में नॉन-कॉर्पोरेट स्मॉल उद्यमों को शुरू करने या उनके विस्तार के लिए सरकार लोन प्रदान करती है। मुद्रा योजना के तहत 10 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है।

इस स्कीम को आठ साल पूरे हो चुके हैं और इस दौरान इस स्कीम के तहत 40.82 करोड़ लाभार्थियों को 23.2 लाख करोड़ रुपये के लोन प्रदान किए गए हैं। यह लोन उनको उनके उद्योग के विकास और अपने व्यवसाय के लिए आवश्यक सामग्री का खरीद करने में मदद करता है। इस स्कीम ने अप्रैल 2015 में शुरुआत की थी और सरकार ने युवाओं के लिए स्वरोजगार के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए इसे शुरू किया था।

पहली पीढ़ी के 21 फीसदी

सरकार ने बताया है कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) के तहत दलित, आदिवासी और पिछड़े वर्ग के लोगों में से 51 फीसदी लोग शामिल हैं। इसके अलावा, 68 फीसदी लोन के अकाउंट महिलाओं के नाम से खुले हुए हैं। इस योजना से 1.12 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है, जो कि प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से है। इस स्कीम के जरिए, रोजगार पैदा करने का मकसद पूरा किया जा रहा है और अभी तक 23.2 लाख करोड़ रुपये के लोन 40.82 करोड़ लाभार्थियों को बांटे गए हैं। समूचे लाभार्थियों में से 21 फीसदी यानी आठ करोड़ लोग पहली पीढ़ी के उद्यमी हैं।

लोन की कैटेगरी

शिशु लोन, किशोर लोन और तरुण लोन – ये तीन श्रेणियों में बांटे गए हैं जिन्हें प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत लोन दिया जाता है। शिशु लोन के अंतर्गत लोन राशि 50 हजार रुपये तक होती है। किशोर लोन के तहत, लोन राशि 50 हजार रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक दी जाती है। इसके बाद तरुण लोन के तहत लोन राशि 5 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक मिलता है।

लोन कैसे प्राप्त किया जाए?

मुद्रा लोन पाने के लिए आपको अपने निकटतम बैंक में जाना होगा। इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए कई बैंक ऑनलाइन सुविधा भी प्रदान करते हैं। आप https://www.mudra.org.in/ पर जाकर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

पीएम शिशु मुद्रा ऋण योजना के तहत ऋण प्राप्त करने के लिए किसी गारंटर की आवश्यकता नहीं होती है और इसके लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं होता है। हालांकि, बैंकों में लोन के ब्याज दरों में अंतर हो सकता है। यह बैंक पर निर्भर करता है। इस योजना के तहत ब्याज दर 9 से 12 प्रतिशत प्रति वर्ष होती है।

लाभ कौन-कौन से उद्योगों को मिल सकता है?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत छोटे उद्योग जैसे दुकानदार, फल, फूड प्रोसेसिंग यूनिट आदि को लोन की सुविधा मिल सकती है. इस स्कीम का लाभ प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, रेजिडेंशियल प्रूफ, पासपोर्ट साइज फोटो, बिजनेस सर्टिफिकेट जैसे दस्तावेजों की जरूरत होती है।

government is giving loans up to 10 lakhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *